धरती का अद्भुत कुंड मनाली में जो मिटाए थकान

0
10

मनाली ( सी.पी.एन. न्यूज़ )

कुल्लू घाटी हिमालय पर्वतमाला में भगवान श्री राम जी का मन्दिर तथा रघुवंश के कुल गुरु ब्रह्म ऋषि वशिष्ठ जी का मन्दिर प्रसिद्ध तीर्थ स्थान के रूप में विख्यात है | विपाशा नदी के तट
पर इसी स्थान पर गुरुवर आत्मग्लानी के बंधन से मुक्त हुए थे |उन्होंने घोर तप से इस स्थान को त्रप्त किया था |
बताया जाता है रावण वध के बाद राम जी के ऊपर ब्रह्म हत्या का पाप लगा था अयोध्या लौट कर राम जी प्रायश्चित्त के लिए अश्वमेघ यज्ञका आयोजन करना चाहते थे लेकिन गुरुवर कुल्लू घटी में तप कर रहे थे |
राम जी के आदेश पर लक्ष्मण जी गुरु जी की तलाश में निकले और उन्होंने गुरु जी को खोज लिया |
लक्ष्मण जी ने गुरु जी के स्नान हेतु अग्निबाण से गर्म जल की धारा निकाल दी | लेकिन गुरुवर तो तपस्वी थे उन्होंने लक्ष्मण जी को ही उस धारा में स्नान करने को कहा और वर दिया जो भी इस धारा में स्नान करेगा उसकी थकान तुरंत दूर हो जायगी
और उसके चरम रोग मिट जायेंगे |
यहाँ चार हजार साल पूर्व दुआला के राजा परीक्षित के पुत्र जनमजेय ने अपने पिता की आत्मा की शांति के लिए मन्दिर की स्थापना की ………………………

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here