गजेंद्र सिंह शेखावत ने किया शाहदरा झील के पुर्नउद्धार कार्य का शिलान्यास

0
3

पूर्वी दिल्ली ( सी.पी.एन. न्यूज़ )

केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और सांसद एवं दिल्ली भाजपा अध्यक्ष, मनोज तिवारी ने पूर्वी दिल्ली नगर निगम द्वारा किए जा रहे शाहदरा झील के पुर्नउद्धार (फेस-2) कार्य का शिलान्यास किया। इस अवसर पर पूर्वी दिल्ली की महापौर, अंजु, स्थायी समिति अध्यक्ष, संदीप कपूर, नेता सदन, निर्मल जैन और बड़ी संख्या में पार्षदगण और निगम अधिकारी मौजूद रहे।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि दुनिया में जल संकट गहरा रहा है और जल निकायों का संरक्षण और पुर्नउद्धार बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि जल के बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है। श्री शेखावत ने कहा कि देशभर के जल निकायों के पुर्नउद्धार के लिए सरकार गंभीर प्रयास कर रही है और लोगों को भी अपने-अपने स्तर पर जल संरक्षण की मुहिम में शामिल होना चाहिए।
सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि सीमित संसाधनों के बावजूद पूर्वी दिल्ली नगर निगम शिक्षा, स्वास्थ्य और जल संरक्षण जैसे क्षेत्रों में अहम काम कर रहा है। श्री तिवारी ने कहा कि शाहदरा झील के पुर्नउद्धार से ना केवल जल संरक्षण जैसी अहम जिम्मेदारी निभाई जा सकेगी बल्कि पूर्वी दिल्ली के नागरिकों को एक बढ़िया मनोरंजन केंद्र भी मिल सकेगा। उन्होंने कहा कि वह पूर्वी दिल्ली के नागरिकों को अधिकतम सुविधाएं देने के लिए लगातार कार्य कर रहे हैं।
पूर्वी दिल्ली की महापौर, अंजु ने शाहदरा झील के पुर्नउद्धार में मदद करने के लिए केंद्र सरकार का धन्यवाद अदा किया। महापौर ने कहा कि जल ही जीवन है और निगम पूर्वी दिल्ली के नागरिकों के साथ मिलकर जय संरक्षण की दिशा में काम करने के लिए प्रतिबद्ध है। महापौर ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी ‘कायाकल्‍प और शहरी बदलाव के लिए अटल मिशन’(अमृत) योजना के तहत इस झील का पुर्नउद्धार किया जा रहा है। इस परियोजना की परिकल्पना 2008-09 में एकीकृत निगम के दौरान की गई थी।
झील की पुर्नउद्धार योजना के प्रथम चरण में गंदे पानी को फाइटोरिड विधि के द्वारा साफ किया गया जिसे झील में जमा किया जाएगा। जिससे भूमि जलस्तर में सुधार होगा। योजना के दूसरे चरण में झील के पुर्नउद्धार के साथ-साथ एक प्रशासनिक ब्लॉक, आधुनिक शौचालय, चार मुख्य द्वार, 10,000 वर्ग मीटर फुटपाथ, एक फव्वारा, व एम्पीथियेटर का निर्माण किया जाएगा। इसके साथ ही, पार्किंग व साइकिल स्टैंड की भी व्यवस्था की जाएगी। सौंदर्यीकरण के तहत 4 पुल, 10 जैविक दीवार, 6 स्थानों पर सीटिंग की व्यवस्था की जाएगी। साथ ही, आकर्षक विद्युत प्रकाश व बागवानी का काम भी किया जाएगा। झील में नौका विहार की व्यवस्था भी की जाएगी।
झील के साथ पार्क भी विकसित किया जाएगा जिसमें मनोरंजन केंद्र होगा। राष्ट्रीय पर्यावरण इंजीनियरिंग अनुसंधान संस्थान इस परियोजना में सलाहकार की भूमिका निभा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here