गंदगी भारत छोड़ो अभियान बे-असर साबित हो रहा है सीमापुरी में

0
7

नई दिल्ली ( अश्वनी भारद्वाज / वीर अर्जुन )

स्वच्छ भारत अभियान के नाम पर करोडों रुपए बहाने के बाद प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर शुरू किया गया गंदगी भारत छोड़ो अभियान भी अपने शुरुवाती दौर में ही निगम अधिकारयों और स्थानीय पुलिस की मिलीभगत के चलते राजधानी दिल्दली में तो दम तोड़ता नजर आ रहा है | राजधानी दिल्ली में एक दो नहीं दर्जनों स्थानों पर भ्रष्टाचार के चलते कबाड़ के अवैध गौदाम लोगो की मुसीबत तो निगम कर्मियों आर स्थानीय पुलिस कर्मियों की अवैध कमाई का जरिया बने हुए हैं | आज हम आपको राजधानी दिल्ली के एक प्रवेश द्वार जो कि उत्तरप्रदेश से जुड़ता है का हाल बताते हैं | दिल्ली में एंट्री करते ही आपका स्वागत कूड़े और कबाड़ के गोदामों से होगा | और आप चंद मिनिट भी वहां नहीं रुक सकते | अब जरा सोचिये उस इलाके में रहने वाले हजारों लोग और वहां से गुजरने वाले लाखो लोगो के साथ क्या बीतती होगी | एक तो अतिक्रमण के चलते वहां से निकलना ही मुश्किल है | और यदि कोई निकलने का प्रयास भी करता है तो मास्क के ऊपर भी रुमाल या गमछा डालना पड़ता है | मारे दुर्गन्ध के बुरा हाल है |
न्यू सीमापुरी के कब्रिस्तान रोड,नर्सिंग होम रोड , रोड तथा रोड नंबर 70 पर कबाड़ के पचास से ज्यादा गोदाम हैं जिनपर दिन रात्त कबाड़ बीनने का काम होता है | शहर भर के कबाड़ बीनने वाले लोग यहां अपना कबाड़ बेचते हैं और यहां से उनकी छटाई करके इसे अन्यत्र स्थानों पर सप्लाई किया जाता है | इतना ही नहीं काफी कबाड़ को यहीं जलया भी जाता जिससे शहर में प्रदुषण भी फैलता है | समझ से परे है इस पर एन.जी .टी.की नजर भी नहीं पड़ रही | बात यहीं खत्म नहीं होती इन मार्गो पर अपराधिक वारदातों को अक्सर अंजाम दिया जाता है | आये दिन यहां झपटमारी और जेबतराशी की वारदातें सुनने को मिलती हैं यहां शराब से ले गांजा,चरस,अफीम तक पीते हुए लोग देखे जा सकते हैं | इस तरह के तत्व भी स्थानीय पुलिस की कमाई का जरिया बने रहते है |एक तरफ नशा पीने वाले होते हैं तो दूसरी तरफ इन्हें बेचने वाले भी वहीं मंडराते रहते है | इस बाबत पूछने पर स्थानीय निगम पार्षद मोहिनी जीनवाल कहती हैं ये सिस्टम यहां काफी सालों से चल रहा है | इस विषय में वे निगमायुक्त तथा मेयर तक से शिकायत कर चुकी हूं | वार्ड कमेटी की बैठकों में ये मुद्दा जोर शोर से उठा चुकी हूं लेकिन भ्रष्टाचार के चलते कोई सुनवाई नहीं हो पा रही |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here