मौहल्ला क्लीनिकों में स्वास्थ्य सेवाओं में भारी कमियों का खुलासा किया: माकन

0
20

नई दिल्ली ( विपिन महेश्वरी )

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय माकन ने सरकार द्वारा चालू किए गए 105 मौहल्ला क्लीनिकों पर दिल्ली कांग्रेस के 217 जनसर्वेक्षकों द्वारा किए गए सर्वों में सामने आई कमियों का खुलासा करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार ने आनन-फानन में एडहाक बेसेस पर केन्द्रीय सतर्कता आयोग की गाईडलाईन्स, पीडब्लूडी के मेन्यूल के, बिल्डिंग बायलाज़ तथा अन्य स्थापित सरकारी प्रक्रियाओं का उल्लघंन करते हुए इन मौहल्ला क्लीनिकों को स्थापित किया। इन मौहल्ला क्लीनिकों में स्वास्थ्य की ना तो मूलभूत सुविधाऐं हैं तथा स्वास्थ्य संबधी गाइड लाइन्स का भी उलंघन किया गया है। श्री माकन ने कहा कि बहुत सारे ऐसे मौहल्ला क्लीनिक है जिन्हें आप पार्टी के सदस्यों/पदाधिकारियों की जगहों पर मार्केट रेन्ट से कई गुणा बढ़ाकर अनाप-शनाप किराया देकर खोला गया है जो कि सरेआम भ्रष्टाचार है तथा दिल्ली के करदाताओं की खूनपसीने की कमाई की बर्बादी की गई है। मौहल्ला क्लीनिकों को लेकर किए गए खुलासे की रिपोर्ट जारी करते हुए माकन ने कहा कि हमने दिल्ली कांग्रेस के 217 कार्यकर्ताओं को “जन सर्वेक्षक” के रूप में प्रशिक्षण दिया तथा उन्होंने व्यक्तिगत तौर पर मौहल्ला क्लिनिकों का सर्वेक्षण 18-20 अगस्त के बीच में किया। सभी टीमों से 19 अगस्त, 1 व 7 सितम्बर को उनके सर्वे के बारे में बैठकें की गई थीं तथा सभी ने अपनी-अपनी रिपोर्ट दिल्ली कांग्रेस के कार्यालय में जमा करवाई। श्री माकन ने कहा कि मौहल्ला क्लीनिक को सरकार ने बिना विस्तृत विश्लेषण व अध्ययन के बिना खोल दिया था। उन्होंने कहा कि इन क्लीनिकों में प्राईवेट डाक्टरों को बैठाया गया है जो प्रतिमहीना 75 से 80 हजार रुपये दिन में केवल 4 घंटे सेवाऐं देकर कमा रहे है और औसत निकाला जाये तो प्रति मरीज को केवल 2 मिनट डाक्टर द्वारा दिए जाते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here