किरदार मेरी रियल लाइफ जैसा हैः छवि पांडेय

0
22

 प्रेमबाबू शर्मा

जी टीवी शो ‘एक बूंद इश्क’ में तारा की भूमिका निभाने वाली छवि पांडेय ने तेरी मेरी लब स्टोरी,ये है अशिकी और जी टीवी शो ‘बंधन’ में हाथी को अपना भाई मानने वाली लडकी के किरदार को निभाया। इन दिनों छवि पांडेय स्टार प्लस पर आ रहे सीरियल ‘सिलसिला प्यार का’ में एक ऐसी लड़की का रोल निभा रही हैं, जिसकी शादी एक ऐसे लड़के से होगी, जो अपनी मां का बेहद प्यारा है। सीरियल सास-बहू के रिश्तों पर आधारित है। इसमें सास बनी हैं, शिल्पा शिरोड़कर। मजेदार बात यह है कि छवि एक अच्छी गायिका भी हैं,जो इंडिया गाॅट टेंलेंट का भी हिस्सा बन चुकीं हैं। हाल में उनकी प्रेमबाबू शर्मा से बात हुई। पेश है,उसके चुनिंदा अंश शो ‘सिलसिला प्यार का’ में निभाये किरदार से खुश हैं? मैं पूरी तरह से अपने किरदार से खुश हॅू। काजल का रिश्तों में, प्यार पर पूरा यकीन है। वह सच का साथ देती है उसे कभी किसी गलत बात को बर्दाश्त नहीं करती। तो क्या किरदार आपकी असल जिंदगी से प्रभावित हैं? जी हाॅ। रील लाइफ में यह एक खुशमिजाज लड़की का किरदार हैं और मेरी असल जिंदगी में भी यह सारी बातें मेरे नेचर जैसी हैं। मेरे लिए रिश्तें ही सब कुछ हैं। अपनों के लिए मैं हमेशा कुछ भी करने को तैयार रहती हूं। आप कह सकते है,की मेरी रील और रियल लाइफ से प्रभावित हैं। शो में एक ऐसी मां की कहानी है, जो अपने बेटे को बहुत प्यार करती है। क्या काजल सास का दिल जीत पति को पाने में सफल हो पाती हैं? मां-बेटे का रिश्ता खास होता है। एक मां अपने बच्चों के लिए बहुत कुछ करती है। लेकिन जब बच्चे बड़े होते हैं, तो उनकी भी एक अलग जिंदगी होती है। यह बात सीरियल में अभय की मां नहीं समझती है। वह अपने बेटे और खुद के बीच किसी तीसरे शख्स को नहीं देख सकती है। लेकिन काजल अपनी सास के दिल में अपने लिए जगह बना लेगी, साथ ही अभय की लाइफ में भी खास बन जाएगी। अगर कभी रियल लाइफ में मेरे सामने ऐसी प्रॉब्लम आएगी, तो पहले मैं अपने लाइफ पार्टनर से बात करूंगी। हम मिलकर प्रॉब्लम का सॉल्यूशन निकालेंगे। वैसे भी रिश्ते प्यार की नींव पर टिके होते हैं, प्यार सबको बदल सकता है। फिर चाहे वो सास-बहू का ही रिश्ता क्यों न हो। सास-बहू के रिश्ते को टीवी को नॉर्मल नहीं दिखाता दोनों में हमेशा प्रॉब्लम बनी रहती है। आपकी नजर में इसका क्या कारण हो सकता हैं? यह रिश्ता सच में इतना कॉम्पिलीकेडेट होता है, टीवी पर सास-बहू का रिलेशनशिप थोड़े ड्रामेटिक तरीके से दिखाया जाता है, क्योंकि हमें थोड़ा एंटरटेनमेंट दर्शकों को दिखाना होता है। दर्शकों को इस प्रकार की मसालेदार कहानी ही पंसद आती हैं,क्योंकि सास और बहूंओं को कहानी में अपने घर का प्रतिबिम्ब नजर आता है। टीवी मार्किंिटग और टीआरपी बढाने में यह एक सफल प्रयोग भी हैं। आपको लगता है कि असल जीवन में सास बहू के बीच नोकझोंक होती हैं ? जहां दो बर्तन होंगे तो बजेगें। परिवार में नोकझोंक से रिश्तों और मिठास आती हैं। बदलते समय के साथ पूरा ही परिवेश ही बदल चुका हैं। लेकिन अब रियल लाइफ में ऐसा कम ही होता है। सास-बहू के रिलेशन काफी बदल चुके हंै। सास-बहू को सपोर्ट करती हैं। बहू भी सास को मां की तरह मानती हैं। यह एक अच्छा बदलाव है। असल जिंदगी में आप अपने लाइफ पार्टनर में क्या खूबियां चाहती हैं? क्या आपकी जिंदगी में कोई खास है? अभी मेरी जिंदगी में कोई खास नहीं है यानी, अभी प्यार की दस्तक नहीं हुई है। लेकिन मैं अपने लाइफ पार्टनर में कुछ खास क्वालिटीज का होना जरूरी मानती हूं। मेरा मानना है कि जो इंसान आपकी इज्जत करता है, वही आपसे प्यार कर सकता है। साथ ही मैं ऐसे शख्स को अपना जीवनसाथी बनाऊंगी, जो मेरे पैरेंट्स को भी रेस्पेक्ट देगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here