डूसू चुनाव परिणाम कांग्रेस के लिए सैटबैक

0
52

नई दिल्ली (अश्वनी भारद्वाज )

 

डूसू चुनाव परिणामो ने कांग्रेस नेताओं को सकते में डाल दिया है | चार में से तीन प्रमुख पदों पर एन एस यू आई की हार से पूरी पार्टी मंथन में है |दरसल दो माह पूर्व हुए निगम उप चुनाव में पार्टी ने राजधानी दिल्ली में आम आदमी पार्टी की मौजूदगी के बावजूद जबरदस्त वापसी की थी |पार्टी लीडरान को लग रहा था कम से कम दिल्ली में उनके अच्छे दिनों की शुरुवात हो गई है | लेकिन इन परिणामो ने पार्टी की हवा निकाल दी है | प्रदेश कांग्रेस प्रेजिडेंट अजय माकन से लेकर कई सेन्ट्रल लीडरों समेत वार्ड लेवल तक पूरी पार्टी सड़कों पर थी |बावजूद इसके अपेक्षित परिणाम नहीं मिल सके |इन परिणामो से दो बातें तो साफ हैं एक तो यह साल भर एन एस यू आई संगठन क्या करता है पर पार्टी को मंथन करना होगा | दूसरे यह कि प्रदेश लीडरशिप जिस ईमानदारी से इन चुनाव को लेता है निचले स्तर पर उस पर अमल कम हवाबाजी ज्यादा दिखती है |जबकि भाजपा जमीनी स्तर पर काम करती दिखती है | दिल्ली के यंगस्टर नें अपना फैसला सुना दिया है कि वो किस पाले में हैं | क्योंकि जो जीता वो ही सिकन्दर | यानि डिजिटल इंडिया का उन पर कितना असर है |शायद इसे भांपते हुए ही आम आदमी पार्टी इस चुनाव से दूर रही यदि वो लोग भी चुनावी जंग में होते तो शायद एन एस यू आई को एक सीट भी नही मिलती | निगम का चुनावी साल है ऐसे में इन परिणामो का महत्व बढ़ना लाजमी है |भाजपा इसे कैश करने का मौका नहीं गवाएंगी | वहीं कांग्रेस खेमे को राजधानी के वोटरों की नब्ज टटोलनी होगी |दरअसल उप चुनाव परिणामो से न केवल दिग्गज लीडर हवा में थे |बल्कि निचले स्तर पर भी कांग्रेस नेताओं के पैर जमीन पर नहीं पड़ रहे थे | लेकिन राजधानी दिल्ली की सियासत हर तीसरे माह पलटी मारती है |यह सभी सियासी दलों को समझ लेना चाहिए |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here