रावण का जन्म इसी गांव में हुआ था

0
169
ग्रेटर नोएडा का एक गांव बिसरख ना केवल उत्तरी भारत बल्कि श्रीलंका तक मसहूर हो चुका है |ऐसी मान्यता है की लंका अधिपति रावण का जन्म इसी गांव में हुआ था |इस गावं का नाम भी रावण के पिता बिसरवा मुनि के नाम पर रखा गया है | बताया जा रहा है की रावण का बचपन इसी गावं में बीता था | रावण के पिता ने इस गावं में भोले नाथ के मंदिर की स्थापना भी की थी | इतना ही नही इस गावं में एक गुफा भी मौजूद है | स्थानीय लोग बताते है रावण इसी गुफा से भगवान शिव की अराधना करने दुधेस्वर मंदिर जाया करता था |
रावण इसी गावं का था| लिहाजा आज भी यहां रावण का पुतला नहीं जलाया जाता | और ना ही यहाँ भगवान श्री राम की लीला का मंचन होता है |इस गावं में बने प्राचीन मंदिर में अब लंका अधिपति रावण की प्रतिमा लगाने की योजना भी बन रही है |वैसे तो हर सोमवार इस मंदिर में भक्तजन जुटते है |लेकिन सावन माह में यहाँ देश भर से लोग जुटते हैं और कई -कई दिन तक यहाँ पर रुकते हैं तथा साधना करते है | मंदिर के सेवादार सुशील तिवारी ने सी पी ऐन की रिपोर्टिंग टीम को बताया साधना में भाग लेने वाले लोगो के रहने का इंतजाम किया जाता है | श्रीलंका तक से लोग भारी मात्रा में यहाँ आते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here