श्रीमद् भागवत कथा : भजनों पर झूम उठे श्रद्धालु

0
33

 नई दिल्ली ( विपिन महेश्वरी )

विश्व प्रसिद्ध कथावाचक गौरव कृष्ण गोस्वामी महाराज ने राजधानी की अग्रणी सामाजिक संस्था छत्रपति शिवाजी समाज कल्याण एवं शिक्षा प्रचार समिति द्वारा आयोजित श्रीमद् भागवत कथा के छठे दिन व्याख्यान में कहा कि जीव परमात्मा का अंश है इसलिए जीव के अंदर अपार शक्ति रहती है। यदि कोई कमी रहती है वह मात्र संकल्प की होती है। संकल्प दृढ़ एवं कपट रहित होने से प्रभु उसे निश्चित रूप से पूरा करेंगे। आज महारासलीला, उद्धव चरित्र, कृष्ण मथुरा गमन तथा रूक्मिणी विवाह महोत्सव प्रसंगों पर महराजश्री ने विस्तृत विवरण दिया। रूक्मिणी विवाह महोत्सव प्रसंग पर अपने व्याख्ययान में गोस्वामी जी ने फरमाया कि श्री रूक्मिणी के भाई रूक्मि ने रूक्मिणी का विवाह शिशुपाल के साथ निश्चित किया था लेकिन रूक्मिणी ने संकल्प लिया था कि मैं शिशुपाल को नहीं केवल गोपाल का पति के रूप में वरण करूंणी। उन्हांेनें कहा कि शिशुपाल असत्य मार्गी है और द्वारकाधीश भगवान श्री कृष्ण सत्यमार्गी इसलिए मैं असत्य को नहीं सत्य को उपनांऊगी। अत: भगवान श्री द्वारकाधीश जी ने रूक्मिणी के सत्य संकल्प को पूर्ण किया और उन्हें पत्नी के रूप में वरण करके प्रधान पटरानी का स्थान दिया। श्री रूक्मिणी विवाह प्रसंग पर आगे महाराज श्री ने कहा कि इस प्रसंग को श्रद्धा के साथ श्रवण करने से कन्याओं को अच्छे घर और वर की प्रप्ति होती है और दाम्पत्य जीवन सुखद रहता है। इस पावन प्रसंग के दौरान दान की विशेष महिमा है। संस्था के संस्थापक जय भगवान गोयल ने बताया कि रूक्मिणी प्रसंग के दौरान एकत्रित दान को श्री राधारानी की जन्मस्थली बरसाना गांव, जिसे संस्था ने विकास के लिए गोद ले रखा है, में एक दिसम्बर को होने वाली गरीब कन्याओ की शादी में दिया जाएगा। आज के कार्यक्रम में सांसद मनोज तिवारी, पूर्व केन्द्रीय मंत्री व सांसद राज्यसभा सत्य नारायण जटिया, पूर्वी दिल्ली विभाग के संघचालक प्रेम नाथ , ए टू जेड न्यूज के कार्यकारी निदेशक रविन्द्र कुमार शर्मा, निगम पार्षद कमलेश गर्ग, भूतपूर्व विधायक डाॅ. नरेन्द्र नाथ, यमुना पार विभाग संचालक रविन्द्र के अतिरिक्त बी.एल. गुप्ता, राजेश कुमार सिंघला (लुधियाना), सुरेन्द्र जैन (सुनाम), भरत चैधरी तथा बलदेव राज मनचन्दा आदि गणमान्य अतिथि सम्मिलित हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here